दक्षिण भारतीय व्यंजन: क्यों ना आज कुछ चटपटी और मसालेदार बात हो जाये।


लजीज खाना आह....हा..... खाने का नाम सुन कर ही सबके मुँह में पानी जाता है और जब आपके सामने आपका मन पसंद लजीज खाना हो फिर तो क्या बात। चाहे हमारा देश हो या कोई और पुरे देश में खाने का बहुत महत्वपूर्ण किरदार है हमारे भारत देश में खाने बहुत रूप देखने को मिलते है भारत के किसी भी कोने में  चले जाओ आपको हर तरह के व्यंजन देखने को मिलेंगे और शायद कुछ ऐसे भी जिनके बारे में आज तक आपने सुना भी नहीं होगा। और हर व्यंजन का स्वाद लाजवाब होता है

ऐसा ही कुछ स्वाद से भरे के व्यंजन के बारे में जानना तो हर कोई चाहेगा तो आइये तो चलते है दक्षिण भारत की और जहाँ के हर व्यंजन का कुछ अलग ही रंग है और लाजवाब स्वाद। 

अधिकतर लोगो को ये लगता है की दक्षिण भारत के सभी व्यंजनों का स्वाद एक जैसा होता है लेकिन ऐसा नही है  दक्षिण भारत वाले हर व्यंजनों की बात ही कुछ और है इनके हर व्यंजन मैं एक अलग ही रंग और स्वाद पाया जाता है और इनका हर स्वाद हमारे मन में एक अलग ही जगह बना लेता है दक्षिण भारत का खाना  जितना स्वादिष्ट  होता है उतना ही healthy भी होता है

तो क्यों इन पर एक नजर डाल लि जाये। 

#1 डोसा (Dosa) :


"The Story of our Food" एक किताब K .T . Acharya  द्वारा लिखी गई ये एक एक प्रख्यात भारतीय खाद्य वैज्ञानिक और खाद्य इतिहासकार भी है उन्होंने कहा कि अप्पम, Idiyappam, Dosai और Adai जैसे खाद्य पदार्थ पहले से ही पहली शताब्दी ईस्वी के आसपास प्राचीन तमिल देश से जाने जाते थे  लेकिन कुछ लेखकों  द्वारा ये बताया गया की डोसा तमिल नही बल्कि उडुपी, कर्नाटक में इजात हुआ था


इसको बनाने के लिए चावल और उड़द दाल और मक्खन के mixture  को तैयार किया जाता है  और इस पर मसाला को और डाल दिया जाये तो इसका स्वाद और बढ़ जाता है डोसा को खाने के लिए कही तरह की चटनी तैयार की जाती है चाहे वो नारियल की हो , हरी मिर्च की हो , या तुअर दाल की हो अगर डोसा के साथ मिल जाये तो क्या बात है ये दक्षिण भारत के साथ-साथ पुरे भारत में भी ज़्यादातौर पर पाया जाता है


#2 वड़ा(Vada)


"वड़ा" भारत में पाए जाने वाले विभिन्न तले हुए व्यंजनों में से एक है  वड़ा को बहुत तरह से भी वर्णित किया जाता है जैसे: पकोड़े, डोनट और पकोड़ी। भारत में वड़ा को wada, vade , vadai, wadeh और bara  के नामो से भी जाना जाता है  ये आलू, दाल और बेसन का एक जबरजस्त मिश्रण होता है  इसको चाहे तो हम नास्ते के रूप मैं भी खा सकते है वड़ा को साम्बर और चटनी के साथ खाने का मजा ही कुछ और है 


#3 इडली(Idlli)


K.T. Acharya's  ने अपनी किताब में इडली की सही कहानी के बारे में बताया है की इडली भारत का व्यंजन नही है इडली का इजात इंडोनेशिया में हुआ था और इसका नाम iddalige  नामके शब्द के आधार पर रखा गया था फिर ये भारत मैं भी पसंद की जाने लगी। यहाँ  एक सबसे अलग हट  कर स्वादिस्ट भोजन है इसको बनाने के लिए मक्खन,  उड़द दाल और चावल का मिश्रण तैयार किया जाता है उसके बाद  बहुत ही नरम और लाजवाब व्यंजन तैयार  होकर आपके सामने आता है इसके साथ ही इसको खाने के लिए कही तरह की चटनी और सांभर को तैयार  किया जाता है ये बहुत ही healthy food  है क्योकि इसके सांभर में  के लिए हर तरह की सब्जियों और दालो को मिश्रण होता है तो क्यों इसका स्वाद लिया जाये  

#4 कोज़्हिकोडे बिरयानी(Kozhikode Biryani) 


बिरयानी आहा हा......... नाम सुनते ही मुह में पानी गया। डोसा का  इज़ात दक्षिण भारत के मुस्लिमो द्वारा किया गया था।  ये चावल , meat , सब्जियों और मसलो का जबरजस्त मिश्रण है बिरयानी चाहे तो non vegetarian हो या  vegetarian इसका स्वाद लाजवाब ही होता है ये व्यंजन दक्षिण भारत से चलते हुए पुरे भारत में बहुत ही मसहूर हो गया है 

#5 कॉफ़ी वाला (Coffee Wallah Special)


कॉफी तो हर जगह पी  होगी और कई बार पी होगी लेकिन दक्षिण भारत की और मिलने वाली कॉफ़ी का स्वाद ही कुछ और  है दिन बाहर की थकान को काम करने के लिए और दिन की शुरुआत के लिए ये कॉफ़ी बेहद ही लाभदायक है  

हर कोई इंसान  दो वक्त के खाने के लिए ही दिन रात मेहनत करता है तो क्यों जब इतनी मेहनत कर ही रहे है तो कुछ अच्छा खाया जाये  और जब बात दक्षिण भारतीय खाने की हो तो  खुद को रोक पाना मुश्किल है…..


Tags:- Hindi Article, Articles In Hindi, Hindi Post, Amazing Facts about India, Incredible India, Amazing Fun Food Facts 

Contact Us

Name

Email *

Message *