No! Hindi is not India’s national Language

सावधान इंडिया: क्या सच में इंडिया सावधान हुआ या एक नई सोच मिली crime करने के लिए?

मेरा भारत महान , I Love My India, Safe India   और जाने क्या क्या बोला जाता है भारत मैं।  पर मुझे नही लगता की मेरा भारत महान है या सुरक्षित है क्योकि  ऐसा  देश कभी भी सुरक्षित नही  हो सकता जहाँ  crime को रोकने की बात करने वाले खुद ही crime  को बढ़ावा देते है क्योकि  हर कोई माँ के पेट से सिख कर नही आता है हर इंसान को अच्छे और बुरे का ज्ञान दुनिया में आकर ही मिलती है 

आज कल के इस modern ज़माने में हर कोई इंसान अगर कुछ भी सीखता है तो बस TV, Radio, Computer और mobile  के माध्यम से। क्योकि हमारा भारत अब Digital जो बन गया है इन सब  माध्यमो के सहारे हम कई अच्छी  बाते भी सीखते है लेकिन उसके साथ साथ ऐसी बातो को भी देखने को मिल जाती  है जिससे इंसान के अंदर भय तो पैदा होता ही है और उसके साथ ही उसके अंदर जुर्म की भी जगह बन जाती है  क्योकि ये तो हम भी देख रहे है TV  में आजकल ऐसी बाते दिखाई जाने लगी है जिसकी कोई हद नही है



ऐसे ही कुछ Reality Show जिनके बारे में आज में आपको जरूर बताना चाहूंगी जो भारत से जुर्म को मिटाये के लिए बनाये गए है लेकिन इन सब से इंसान कुछ अच्छा सीखे या सीखे लेकिन crime  करने के तरीके जरूर मिल जाते है 

#1 सावधान इंडिया: "सावधान इंडिया- 


India's fight back"  "lifeok" चैनल का सबसे मशहूर और सबसे ज्यादा देखे जाना वाला धारावाहिक जिसको अधिकांश घरो में देखा जाता है लेकिन क्या आपको नही लगता इस धारावाही में जुर्म के ऐसे-ऐसे किस्से देखने को मिलते जो शायद कभी हुए भी नही। और तो और जुर्म करने के ऐसे तरीके पेश किये जाते है जिससे इंसान सचेत तो कम होता है बल्कि  उसको दोहराने  के बारे में भी सोचने लगता है  इंसान अपने आप को इसका आदि बना चूका है और जो भी इसमे  मनगड़त कहानी  दिखाई  जाती है उसको अपनी निजी जिंदगी में ढालने की कोशिश  करता है और ये कोशिश  आगे जा कर एक जुर्म को बढ़ावा देती है 

#2 Crime Petrol:


एक जाना माना  धारावाही जिसकी प्रशंसा हर कोई करता है लेकिन में नही मानती क्योकि जिस उद्देश्य के लिए इसको बनाया गया था उसका असर तो अभी तक नही पड़ा बल्कि अपराधियो को जुर्म करने की नई सोच जरूर मिल गई। इस तरह के धारावाही से इंसान प्रेरित नही होता बल्कि उसके अंदर कई जुर्म की भावना पैदा होती है और वो कही कही जुर्म को बढ़ावा जरूर देता है      

#3 CID : 


सबसे ज्यादा मशहूर  धारावाही जिसको हर कोई देखना पसंद करता है बच्चा हो या बूढ़ा हर कोई इसका दीवाना है लेकिन आपको नही लगता की सच में जो भी दिखाया जाता है वैसा  होता भी है या नही? मैंने तो आज तक किसी murder में या चोरी में या कोई भी क्राइम में सबसे पहले CID  को आते नही  देखा और तो और जुर्म को तो ऐसे पेश  किया जाता है जिससे अच्छा खास इंसान अपराधी बनने की कोशिश करने लगता है इसमें दिखाई  जाने वाले हर हिस्से से बस जुर्म को कैसे कर सकते है उसकी सिख मिलती है 


ऐसे कई और भी धारावाही है जिसमे कुछ इसी तरह की कहानियां बताई जाती है  पर ये सोचने वाली बात नही है की  इन सबके कारण इंसान बहुत कुछ सिख गया है जुर्म तो कम हुआ नही बल्कि जुर्म को करने के बहुत तरीके जरूर मिल गए है इन सबको बंद करवाया जाये अगर कुछ दिखाना ही है तो ऐसी चीजे दिखाओ जिससे इंसान को हिम्मत आये और वो मजबूत बन सके और वो जुर्म के खिलाफ खड़ा हो सके की उसका ही साथी बन जाये तभी बोलना "India's fight back" 

Tags: -HindiArticle, Stop Rape Part-7, StopRape Part-6, Stop Rape Part-5, Stop Rape Part-4, Stop Rape Part-3, Stop RapePart-2, Stop Rape Part-1 

Contact Us

Name

Email *

Message *