Good bye mongoose -A dangerous helper

Longyearbyen की एक रहस्यमय कहानी क्या आप जानते है?

Longyearbyen एक ऐसा शहर जिसके पीछे कई रोचक कहानियां छुपी है। लेकिन बहुत ही लोग है जो इस शहर को जानते होंगे, कुछ लोगो के लिए ये नाम तो  एक दम नया होगा। Longyearbyen एक शहर का नाम है जो की Adventfjord पर स्थित है। जो की Spitsbergen के पश्चिम में स्थित Isfjord में बहने वाली नदी Adventdalen के पास स्थित है। ये शहर North Pole से 966 किलोमीटर की दुरी पर बसा है। 



कुछ ये मानते है की Longyearbyen के नाम की उत्पत्ति "Long Year" शब्द  से हुई थी।  इसके पीछे की कहानी तो बहुत कम लोग ही जानते होंगे।  Longyearbyen का  नाम एक शख्स के नाम पर रखा गया था। जिनका नाम John Munroe Longyear था। और इस शहर की खोज भी इन्होंने ही की थी। 

आखिर कैसे खोज हुई Longyearbyen शहर की


सन 1901 के समय जब Longyear अपने पुरे परिवार के साथ "S / S Augusta Victoria" नाम के जहाज पर Svalbard की और सफर कर रहे थे। तब वे  Advent  के तट के पास पहुँचे। वह पहुँच कर पुरे परिवार ने Arctic द्वीपसमूह  दौरा किया उस वक्त Arctic एक पर्यटन स्थल के रूप में था।  

2 साल बाद जब longyear वापस Norway आये तो उन्होंने Svalbard से की गई साझेदारी को तोड़ दिया। क्योकि उनके दिमाग में बस Arctic द्वीपसमूह ही था। वो उनके लिए एक अवसर जैसा था। वो वापिस Svalbard की और गए और Adventfjorden में पुरे 36 घंटे बिताये। वह से उन्होंने कोयले के कुछ टुकड़े को अपने साथ एक नमूने के रूप में रख लिया और United Stated वापस आकर उन पर परिक्षण चालू किया। 

सन 1905 में Longyear ने वह अपना एक व्यवसाय शुरू किया जिसमे उनकी मदद Frederick Ayer ने की थी। दोनों ने मिलकर एक Company खड़ी  की जिसका नाम Ayer & LongYear रखा। तब से ही उस जगह का नाम सब ने longyear रख दिया और जब वह लोग आकर रहने लगे तो उसका नाम Longyearbyen पड़ गया।
पर क्या जानते है Longyearbyen के कुछ ऐसे नियम है जो सबसे अलग है। कुछ ऐसी बाते जो आपने पहले कभी नही सुनी होगी। 

Longyearbyen के कुछ अनजाने और अनसुने से तथ्य। 


#1 सबसे पहली बात जो आप जान चुके है की Longyearbyen की खोज एक अमेरिकन द्वारा की गई थी। जिनका नाम John Munroe Longyear है। 
#2 Longyearbyen में बना हुआ हर एक घर लकडियो का है। क्योकि उस जगह की सतह पर हमेशा  मिट्टी होती है जो कभी पिघल जाती है इसलिए वह के घरो को लकडियो और पाइप मदद से बनाया जाता है। 

#3 Longyearbyen में आप जूते नही पहन सकते है। यहाँ बिना जूते  पहने ही आपको शहर में जाने को मिल सकता है अन्यथा नही। 

#4 Longyearbyen में सभी को बन्दुक रखना जरुरी है। पर उसको आप अपने घर के अंदर नही ले जा सकते है। घर के दरवाजे के बाहर  ही आपको उसे छोड़ना होता है। इसके पीछे का मुख्य कारण ये है की वह पर मौजूद भालू है जिनको जब  महीनो तक खाना नही मिलता तो वो हमला कर सकते है इसलिए वह के लोगो को अपने साथ बन्दुक रखना पड़ता है। 

#5 Longyearbyen में किसी भी तरह के परिवहन जैसे बस,कार, रेलगाड़ी आदि कुछ भी नही मिलेगा।  वह पर किसी भी तरह के रोड नही बनाये गए है। वह पर  Snow scooters के द्वारा ही लंबे सफर तय किये जाते है। 

#6 यहाँ पर सूरज को देखना मुश्किल हो जा जाता है। Longyearbyen में 4 महीने के बाद ही सूरज निकलता है। कभी-कभी तो इससे भी ज्यादा समय बीत जाता है। पर सूरज दिखाई  नही देता। 

#7 सबसे रोचक बात तो Longyearbyen की ये है की यहाँ पर मरना वर्जित है। जी हाँ.... यहाँ पर आप मर नही सकते, अगर को मर रहा है तो उसको Longyearbyenके बाहर भेज दिया जाता है। यहाँ पर 70 साल से ज्यादा उम्र वालो को नही रखा जाता। इसका कारण ये है की यहाँ पर इंसान का शरीर कभी गलत नही है। यहाँ पर दफनाया गया शरीर वेसे ही रहता है। इसलिए यहाँ पर किसी को नही दफनाया जाता है। 

#8 यहाँ के रास्तो को किसी तरह के नाम नही दिए गए है यहाँ पर रास्तो की पहचान Numbers  के द्वारा की जाती है। तभी Peter Adams ने एक कहावत कही थी “Grown men do not build houses on streets that are named Blueberry Road or Teddy Bear Yard!”

#9 यहाँ पर बिल्ली पालना  सख्त माना है। क्योकि वह के लोग पक्षियों को बहुत मानते है और बिल्लियाँ पक्षियों को हानि पंहुचा सकती है इसलिए वह बिल्ली रखना वर्जित है। 

#10 Longyearbyen में आपको ऐसे बहुत से जानवर जैसे Reindeer  मिलेंगे जिससे आपकी जान को खतरा हो सकता है। ये आपको आम जगहों पर देखने को नही मिलते। यहाँ पर कोई भी बिना इजाजत के नही घूम सकता। 

Contact Us

Name

Email *

Message *