A short story on a sharp-witted crow

एक ऐसा नजरिया, जिसने देश का नजरिया बदलकर रख दिया-हरमन सिंह सिधु।

देश बदल रहा है लोग बदल रहे है। और इस बदलते देश के साथ लोगो की सोच भी बदल रही है। कुछ लोगो की सोच देश के हित में होती है तो कुछ लोग उस सोच को ही नकार देते है। आज कल के ज़माने में कोई भी चीज इंसान की सोच में आने से पहले Social Media पर आती है।  सबने आज कल ये मान लिया है की Social Media के जरिये वो अपनी देश भक्ति देखा सकते है जिससे और ज्यादा लोग उसको जाने  और पहचाने।  




लेकिन इन सब सोच  से अलग हट  कर एक ऐसी भी सोच है।  जिसने दुनिया को सोचने पर मजबूर कर दिया। जिसने बिना किसी Social Media के अपनी सोच को दुनिया तक पहुँचाया। और उस सोच को पूरा करके भी दिखाया। जी हाँ.... में उस शख्स की बात कर रही हूँ। जिनके बारे में शायद ही कोई जानता हो या ये कहा जाये जिनको किसी ने जानने की कोशिश भी नही की। तो आज में आपको उस शख्स  से मिलवाउंगी जिसने देश का नजरिया बदलने की नयी पहल शुरू की है। 

हरमन सिंह सिधु एक ऐसा नाम जो आज हर किसी के लिए मिसाल बन गया है। जी हाँ ये वो शख्स  है जिन्होंने हाल ही में कर दिखाया है जो कोई नही कर पाया। हरमन सिंह ने High Court के सामने अपनी बात राखी और उनसे गुजारिश  की, की उनकी इस बात पर गौर किया जाए। उन्होंने High Court  से कहा की सभी Highway के पास से सारी शराब की दुकानों को हटाया जाये जिसके कारण देश में होने वाले कई हादसों को रोका  जा सकता है।    और उनकी इस याचिका पर highcourt ने हाईवे से सारी दुकानों को हटा दिया है।  उनको आदेश दिया की सभी शराब की दुकाने Highway  से 291 km की दुरी पर होना चाहिए। 

आखिर कोन है ये हरमनसिंह सिधु?

ये कोई मशहूर  हस्ती नही है ही कोई राजनेता ये हमारे और आपकी तरह एक आम इंसान है। जो की पेशे से Web Designer है।  चंडीगढ़ के रहने वाले है।  एक आम इंसान जो हर वक्त एक सकरात्मक सोच के साथ चलता।  लेकिन एक ऐसा हादसा जिसने उनकी जिंदगी को हमेशा के लिए Wheelchair पर लेकर रख दिया। 1996 का वो समय , जब वो कनाडा जाने की तैयारी  कर रहे थे। जाने से पहले उन्होंने सोचा की क्यों जाने से पहले एक बार दोस्तों के साथ घूम लिया जाये। तब हरमन जी अपने दोस्तों के साथ एक कार से चंडीगढ़ से हिमांचल प्रदेश की और निकल पड़े। तभी अचानक बिच रास्ते  में उनकी कार पलट गई, बाकि सभी दोस्त तो सही सलामत निकल आये पर हरमन जी कार में ही फंस गए। 

उनकी रीढ़ की हड्डी में ऐसी चोट लगी की वो हमेशा के लिए wheelcheair पर चले गए उनके शरीर का निचला हिस्सा पूरी तरह से paralysed हो गया। उस वक्त उनकी उम्र 26 साल की ही थी। और उनकी जिंदगी Computer पर Website बनाने तक सिमित रह गई  

जिंदगी में इतना सब खोने के बाद भी हरमन सिंह जी ने हार नही मानी और अपने हर मकसद को पूरा करने की कोशिश में जुट गए शुरुआत उन्होंने एक Website को design करके की।   

-सबसे पहले उन्होंने उन डॉक्टर के लिए Website Design की , जिन्होंने हरमन जी का उपचार किया था  

-उसके बाद अपने कुछ साथियो के साथ मिलकर एक NGO बनाया जिसका नाम Arrive Safe रखा। जो सड़क Drive करने वाले लोगो को जागरूप करने के आलावा सरकार  को भी सड़को पर हो रहे हादसों के बारे में सचेत करता है। 

इस याचिका का असर ऐसा हुआ की सरकार द्वारा दिल्ली और उसके आस पास के इलाको में ट्रको में लदे  हुए सरिये पर प्रतिबन्ध लगा दिया गया है। 
हरमन सिंह जी इस सोच को काफी सराह गया। तब हरमन जी ने एक और याचिका कोर्ट के सामने रखी की राष्ट्रीय राजमार्गो के आस-पास लगी हुई सभी शराब की दुकानों को हटा दिया जाये। तब सरकार ने कुछ दिन पहले ये आदेश जारी किया की राष्ट्रीय राजमार्गो से  दुकानों को हटा दिया जाये और ये कहा गया की दुकानों को highway  से 500 मीटर की दुरी पर लगा जाये। 

Highway से शराब की दुकानों को हटाने के क्या फायदे हो सकते है?


#1 Highway पर शराब की दुकानों को बंद करवाने से पहला फायदा ये होगा की सड़को पर हो रहे हादसों को रोका जा सकता है।

#2 आये दिन से सड़को पर की कोई शराब पी  कर पड़ा रहता है तो सरकार के इस कदम से इन हादसों पर भी रोक लगा जा सकता है। 

#3 हरमन सिंह जी ने ये भी कहा की हाईवे पर लगी शराब की दुकानों का Rate काफी ज्यादा होता है। जिससे कई तरह के काले धन का चलन चल रहा है जिनको रोक जा सकता है। 

#4 सड़को पर कई लोग शराब पी कर गाड़ी चलाते है। जिससे कई दुर्घटनाएं होती है। और सरकार के इस प्रतिबन्ध से कई हादसों को रोक जा सकता है।  

अगर इंसान ठान ले तो वो कुछ भी कर सकता है। लेकिन आज की इस दुनिया में हर कोई बस अपने बारे में  सोचता है। हर कोई बस पैसा कमाना चाहता है। इंसान जीना भूल गया है। बस भागता है बिना अपनी और अपने परिवार की फ़िक्र किये बगैर। 

हरमन सिंह सिधु जी ने अपने जीवन में कभी हार नही माना  बल्कि हार मानने की वजाए लोगो को एक बात ही बताई है की "में लोगो को ये बताना चाहता हूँ की मेने जो खोया है उसकी अहमियत बहुत ज्यादा है। अपने आप को पहचानिये और खुद की पहचान बनाइये। "   


Contact Us

Name

Email *

Message *