आखिर कैसे रोके बच्चो की बढ़ती हुई बदतमीज़ीयो को ?

"For a man to conquer himself is the first and noblest of all victories". ये novel एक मशहूर लेखक Plato द्धारा गई थी उन्होंने अपनी नोबेल के माध्यम से समाज को बस यही सीखना चाहा  है की आप कैसे अपने व्यव्हार को नियंत्रण में रख सकते है     
अगर हम पर पर स्वयं का नियंत्रण होता है तो ये नियंत्रण हमारे व्यव्हार मैं काफी बदलाव कर सकता है और हमेशा एक सकरात्मक सोच को जन्म देता है और यही बात हमारे बच्चो पर भी लागु होती है क्योकि ये तो हम सभी जानते है की जैसे-जैसे समय आगे बढ़ता जा रहा है उसी के साथ बच्चो के व्यव्हार में भी बदलाव होता जा रहा है 



आज कल के बच्चे कई सारी नई चीज़े सीखते है जो उनको बहुत कुछ सिखाती है ये सभी बाते बच्चो के व्यव्हार में भी काफी असर करती है जिसके बाद हम अपने बच्चो के बदलते हुए रूप को देखते है और उनके इसी व्यव्हार का असर सीधे-सीधे उनके भविष्य पर पड़ता है 
बच्चो की बढ़ती हुई बद्तमीज़ियों को रोके के लिए माँ-बाप बहुत से तरीके अपनाते है लेकिन वो हर बार असफल रहते है और कई बार उनकी ये कोशिश बच्चो को और चिड़चिड़ा बनाती है 
तो फिर ऐसा क्या करे जिससे बच्चो की बद्तमीज़ियों को रोक जा सके

बच्चो की बद्तमीज़ियों को रोकने के लिए कुछ ऐसे उपाय है जिससे आपका बच्चा आपकी बात भी मानेगा और अपने अंदर सकारात्मक सोच भी लाएगा


#1 सबसे पहली बात अगर आपके बच्चो को किसी बात के लिए ज्यादा जोर दिया जाता है तो उस बात को पहचाने और कोशिश करे की अपने बच्चो की परेशानियो को दूर करने की कोशिश करे।  

#2 आपका बच्चा किस तनाव से गुजर रहा है उसको पहचाने और जहा तक हो सके बच्चो के जीवन में किसी भी तरह का तनाव आने दे। 

#3 बच्चो मन की बात जानने के लिए उनसे बाते करे और एक ऐसा माहौल बनाये जिससे वो आपको अपना मित्र समझे और हमेशा आपका सम्मान करे। 

#4 बच्चो के सामने कभी भी किसी के साथ दुर्व्यवहार करे क्योकि आप आपका बच्चा वही सीखता है 

#5 बच्चो को  ये की कोशिश करे की हर काम को एक शांतिपूर्ण रणनीति से हल किया जा सकता है और उनके सामने हमेशा कोई कोई उदहारण दे जिससे वो एक प्रेरणा ले सके। 

#6 बच्चो को के जीवन में उत्साह को काम होने दे उनको किसी तरह के नियम में बांधे उनको जिंदगी जिनके की नई-नई राह दिखाए और खुद भी उसी राह  पर चले क्योकि हर  बच्चा अपने जीवन का सबसे पहला सबक अपने माँ-बाप से सीखता है। 


बच्चो के सभी अच्छे और बुरे व्यव्हार का कारण और कोई नही बल्कि  बड़े  ही होते है आजकल के  बच्चो पर बढ़ते  तनाव को लेकर हर माँ-बाप को चिंता रहनी चाहिए बच्चो पर किसी भी तरह का ज़ोर दे उनके मन की बात जानने की कोशिश करे और उनको अच्छे और बुरे की पहचान करवाये। 

Contact Us

Name

Email *

Message *