ये Reel Life के नही, बल्कि Real Life के Hero है

"Hero" ये शब्द सुनते ही हमारी आँखों के सामने बस उन लोगो का चहरा सामने जाता है जिनको Hero  के रूप में देखते है। Television की दुनिया के वो hero जिनको हम दिन-रात देखते है। आज इंसान के अंदर बस Hero शब्द के लिए एक ही छबि बन गई है। क्योकि वो हमारा मनोरंजन बढ़ाते है और कुछ कुछ नया जरूर करते है। उनको देखने के लिए लाखो- करोड़ो रुपये खर्च कर देते है। 


लेकिन क्या आप जानते है असल Hero वही कहलाता है जो Reel life में नही बल्कि Real life में कुछ ऐसा कर जाये जिससे किसी बेसहारा को सहारा मिल जाये और उनका ये काम हर किसी के लिए एक मिसाल बन जाये।  उनके बारे में तो शायद ही कोई जानता हो क्योकि शायद अब हमको एक आदत हो गई है मजेदार कहानियां पड़ने की आदत सी हो गई है पर इनके बारे में कोई जानना तक पसंद नही करता जो असल में hero कहलाने के लायक है। 

आज में उन लोगो को सामने लाऊंगी  जिन्होंने हमारे बीच  रह कर अपनी एक अलग ही छबि बनाई है। तो क्योन उन सभी की छबि को हम अपने मन में उतार ले। 


#1 मिलिए हमारे Real Hero गौतम कुमार से जिसने अपनी सबसे अच्छी नोकरी को छोड़ कर एक NGO के साथ मिल कर समाज सेवा करने का फैसला किया ताकि कोई भूक या बेघर रह जाये।  

#2 दिनेश कुमार जो की एक Former Journalist है ये अपने दिए हुए काम से ज्यादा काम करते है ताकि वो उन लोगो को पड़ा सके जिनको शिक्षा नही मिल पाती। 

#3 गुलाम दस्तागीर एक स्टेशन मास्टर ,एक ऐसे शख्स जिन्होंने भोपाल गैस कांड के वक्त अपनी जान की परवाह किये बिना कई लोगो की जान बचाई थी। 

#4 प्रमोद कुमार के मामूली सा बस का Driver जो असल में इंसान कहलाने के लायक है ये शख्स उन लोगो के पर्स घर दे कर आते है जो बस या कही और भूल कर चले जाते है। 

#5 अपनी ओलाद के जाने का गम तो हर किसी को होता है पर सरोजनी अग्रवाल एक ऐसी शख्स है जिन्होंने अपनी बेटी खोने के बाद  अभी तक 800 लड़कियों को गोद लिया है जिन्हें छोड़ या फेंक दिया जाता है।   

ये तो बहुत काम लोग है दुनिया में ऐसे बहुत से लोग है जिनके बारे में कोई नही जनता और वो असल में Hero  कहलाने के हक़दार होते है जो हमारे बीच  रहकर भी अपनी एक अलग ही पहचान बना जाते है। 

Contact Us

Name

Email *

Message *