दुनिया का सबसे बड़ा मंदिर, अब बनेगा भारत में , जिसके आगे बुर्ज ख़लीफ़ा भी होगा फेल।

दुनिया के सभी देशों में भारत मात्र एक ऐसा देश है जहाँ सबसे अजब-गजब चीजे मौजूद है। यहाँ की हर चीजें सबसे अलग हट  कर होती है चाहें वो  यहाँ  की भाषा हो, संस्कृति हो , पहनावा हो या वह के लोग सब कुछ अलग ही होता है। यहाँ इतनी खूबसूरती को देखने के लिए दुनिया भर से लोगो की भीड़ उमड़ पड़ती है।  


भारत की खूबसूरती को और बड़ाने के लिए अब भारत में दुनिया का सबसे ऊँचा मंदिर बनने जा रहा है। जो एक अलग ही इतिहास रच देगा। अब तक आपने दुनिया की सबसे ऊंची इमारत से लेकर विश् की सबसे लंबी दीवार के बारे में सुना होगा, लेकिन में  आपको बताने जा रही हूँ, आज दुनिया के सबसे ऊंचे धार्मिक स्थल और विश् के सबसे ऊंचे मंदिर के बारे। जी हां यह मंदिर भारत के उत्तर प्रदेश में बन रहा है। खास बात यह है कि इस मंदिर की नींव दुनिया की सबसे ऊंची इमारत बुर्ज खलीफा से भी गहरी होगी। आइए आपको बताते हैं इस मंदिर की खासियतें?

#1 दरअसल दुनिया इस सबसे ऊंचे मंदिर का नाम है चंद्रोदय मंदिर, जो उत्तर प्रदेश के मथुरा जिले के वृंदावन में बन रहा है। चूंकि यह वृंदावन में बन रहा है, इसलिए इसे चंद्रोदय वृंदावन मंदिर कहा जाता है।

#2 इस मंदिर को इस्कॉन यानी की अंतर्राष्ट्रीय कृष्णभावनामृत संघ बना रहा है। इस मंदिर का शिलान्यास 16 नवम्बर 2014 को राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने किया था।

#3 इस मंदिर की सबसे खास बात यह होगी कि इसमें तकरीबन 166 मंजिलें होंगी, जो दुनिया के किसी मंदिर में नहीं हैं।

#4 26 एकड़ के भू-भाग पर फैले इस मंदिर में चारों ओर 12 कृत्रिम वन बनाए जाएंगे। यह वन श्रीमद्भागवत एवं अन्य शास्त्रों में दिये गए, कृष्णकाल के ब्रजमंडल के 12 वनों (द्वादशकानन) के के अनुसार ही होंगे। इन वनों में कई तरह सैंकड़ों वृक्ष होंगे और कई बाग भी होंगे।

#5 यह मंदिर कुल 70 एकड़ में फैला है। जिसमें 12 एकड़ पर कार-पार्किंग सुविधा होगी, और एक हेलीपैड भी होगा। इसके अलावा यहां एक कृष्णा थीम पार्क भी बनाया जाएगा जहां लाइट एवं साउंड शो की व्यवस्था होगी।

#6 खास बात यह होगी कि मुख्य मंदिर पारंपरिक नागरा वास्तुशैली और आधूनिक वास्तुशैली का मिश्रण होगा।

#7 वृंदावन चंद्रोदय मंदिर से जुड़े अर्जुननाथ ने आईबीएन खबर से विशेष बातचीत में बताया कि इस मंदिर के निर्माण में कुल 700 करोड़ रुपये की लागत आएगी। उन्होंने बताया कि इस मंदिर के निर्माण में देश-विदेश की तकरीबन 25 कंपनियां लगी हुई हैं।

#8 अर्जुननाथ ने बताया कि मंदिर के कुल 511 प्रखंड होंगे जिनका निर्माण अगले साल मार्च तक हो जाएगा। उन्होंने बताया कि अब तक इसके 140 प्रखंडों का निर्माण पूरा हो चुका है।

#9 चंद्रोदय मंदिर विश् का सबसे ऊंचा मंदिर होगा। इस मंदिर की ऊंचाई तकरीबन 210 मीटर होगी। जबकि पूरी इमारत की ऊंचाई 828 मीटर होगी। मंदिर इसकी नींव 55 मीटर होगी, जो दुबई स्थित दुनिया की सबसे ऊंची इमारत बुर्ज खलीफा की नींव से ज्यादा होगी।

#10 अर्जुननाथ के अनुसार इस मंदिर की ऊंचाई भारत की मुगलकालीन ऐतिहासिक इमारत कुतुबमीनार से 3 गुणा ज्यादा होगी।

#11 अर्जुननाथ ने बताया कि मंदिर में तकरीबन 10 हजार श्रद्धालु एक साथ दर्शन कर सकेंगे जबकि उत्सव या त्योहार के समय 1 लाख लोग एकत्रित हो सकते हैं।
भारत को सभी लोग धार्मिक स्थल के रूप में मानते है। यहाँ की हर जगह में एक अलग ही रौनक देखती है। चंद्रोदय मंदिर के बनने के बाद भारत के खाते  में एक और उपाधि शामिल हो जाएगी। और ये बस कुछ लोगो का फर्ज नही है, हमारा भी है हमको मिल कर भारत की पहचान बढ़ाना चाहिए और ये सब मिलकर ही सफल होगा।  

Contact Us

Name

Email *

Message *