मुश्किलों से भागो मत, सामना करो

मुश्किलों से भागो मत, सामना करो

आज के ज़माने में बहुत कम लोगो में ही सच्ची लगन दिखायी देती है । MODERNIZATION के इस दोर मे सभी लोग सब कुछ फटा फट चाहते। अकसर हमें अखबारों, न्यूज़ CHANNELS में ऐसी खबरे  पढ़ने और सुनने  को मिलती हैं कि रातोंरात कामयाबी ने कई लोगों के कदम चूमे। ऐसी खबरे देखकर और सुनकर हमारा भी मन करता है की हमे भी वो सब कुछ जल्दी से जल्दी मिले।

अक्सर दूसरों की कामयाबी को देखकर हम  लोगों को लगता है कि बड़ा नाम कमाना या सफल होना बाएँ हाथ का खेल है क्योंकि हमे  उनकी कामयाबी के पीछे लगी कड़ी मेहनत और लगन का अंदाज़ा नहीं होता। . . . हम सिर्फ कामयाबी और सफलता को अहमियत देते हैं।

लेकिन सच्ची लगन का मतलब क्या होता है कोई नही जनता। सच्ची लगन का मतलब है समस्याओं के बावजूद हर हालत मे अपने मकसद या को पूरा करने की कोशिश करना। EINSTEIN की यह कहानी इस बात का EXAMPLE है;

महान वैज्ञानिक Elbert Einstein कभी भी कोई काम किया करते थे तो उस काम मे खो जाते थे। उन्हे दूसरे किसी काम की होश ही नहीं रहती थी। एक बार वो अपनी laboratory मे कुछ काम कर रहे थे, तो उनकी पत्नी उनके लिए खाना लाई थी। उनको काम करते देख वो उनकी थाली को table पर रख कर चली गयी। उन्होने सोचा की काम करने के बाद वो खा लेंगे। साथ ही उनके के सहयोगी मित्र भी साथ काम कर रहे थे। खाने की थाली देखकर उनकी भूख  बढ़ गयी और वो काम को छोड़कर खाना खाने के लिए चले गए। उन्होने सारा खाना खा लिया। Einstein पूरी शिद्दत के साथ अअपना काम कर रहे थे। जब उन्होने अपना काम करने के बाद खाना खाने के लिए अपने table के पास गए तो उन्होने देखा खाना है नही सब खाली बर्तन है। उन्होने सोचा की शायद मैने खाना खा लिया हैऔर उसके बाद वो फिर पानी पीकर वापिस अपने काम मे लग गए। उनके सभी सहयोगी उनके काम के प्रति लगन को देखकर हैरान रह गए। इसे कहते है काम के प्रति सच्ची लगन। 
गीता मे भगवान कृष्ण
 कहते है की उनकी माया को समझना अत्यंत मुश्किल है। उनकी माया में  उत्तीर्ण होना हर जीव की लिए नमुमकिन है। लेकिन मन मे लगन अगर सच्ची हो तोहर माया आपके साथ हो जाती है  और असंभव काम भी संभव हो जाता है।

Tags:- Article in Hindi, Life Story, Facts About Life, Positive Attitude, Reason For Suicide

Contact Us

Name

Email *

Message *