Incredible India-कुछ अनजाने और अनसुलझे से रहस्य

Incredible India-कुछ अनजाने और अनसुलझे से रहस्य 


कला, संस्‍कृति और इतिहास के लिए दुनिया भर में मशहूर भारत अपने अंदर आज भी कई सारे रहस्‍य समेंटे हुए है। कई सवालों के जवाब देश भर के वैज्ञानिक़ो को अब तक नही मिले। लाख प्रयासों के बाद भी वैज्ञानिक कई अनसुलझी गुथियाँ नही सुलझा पाया हैं। आइयें जानते हैं लोगों के डराने और वैज्ञानिकों के लिए चुनौती बने रहस्‍यों के बारे में।

यहाँ आज भी है भगवान

वृंदावन का एक ऐसा मंदिर, जहां रात होने के बाद खुद ही मंदिर का दरवाजा अपने आप बंद हो जाता हैं। यहां रात में रुकने वाले की मौत हो जाती हैं। माना जाता हैं कि है कि भगवान श्रीकृष्ण और राधा आज भी आधी रात के बाद यहां आते हैं।

जिसके बाद परिसर में ही स्थित रंग महल के कमरे में शयन करते हैं। अंधेरा होने से पहले ही रंग महल में प्रसाद के तौर पर पुजारी माखन और मिश्री रखना नहीं भूलते। इतना ही नहीं सोने के लिए पलंग भी लगाया जाता है। सुबह पलंग देखने पर आपकों पता चल जाता है कि रात में इस पर कोई सोया था।

इसके साथ ही प्रसाद भी दिखाई देता हैं। पुजारी अंधेरा होने से पहले ही मंदिर में ये सब व्यवस्था कर देते हैं। मान्‍यता के अनुसार अंधेरा होने के बाद मंदिर में इंसान या  पशु-पक्षी कोई नही रुकता।

 क्‍या जिंदा हैं अश्वत्थामा !

कहां जाता है की महाभारत के अश्वत्थामा आज तक जिंदा हैं। मान्‍यताओं के अनुसार पिता की मौत का बदला लेने निकालने के लिए अश्वत्थामा की एक गलती के बाद भगवान श्रीकृष्‍ण ने उन्‍हें युगों तक भटकने का श्राप दे दिया था। जिसके बाद कई हजार सालों से अश्वत्थामा भटक रहे हैं।
MP के बुरहानपुर जिले के पास असीरगढ़ का एक किला है। इलाकाई लोगों के अनुसार किले में स्थित शिव मंदिर में अश्वत्थामा आज भी वह पूजा करने के लिए आते हैं।

पूजा से पहले वह किले में बने तालाब में स्नान करते हैं। लोग कहते हैं कि अश्वत्थामा को जिसने भी देखा उसका मानसिक संतुलन खो चूका है। बंरहानपुर के साथ ही जबलपुर शहर में नर्मदा नदी पर भी अश्वत्थामा के भटकने की किस्‍से काफी मशहूर हैं।

स्‍थानीय लोगों के अनुसार वह आज भी सिर से बहते खून को रोकने के लिए तेल और हल्‍दी माँगा करते हैं। हालांकि इन किस्‍से के अभी तक कोई प्रमाणिक प्रमाण नहीं मिल पाया  हैं।


Tags:- Article In Hindi, Incredible India, Unknown Facts, Story Online, Life Story, Facts About World 

Contact Us

Name

Email *

Message *