THE HOLY SNAKE- A SHORT STORY DESCRIBING HOW GREED CAN BE DANGEROUS

देश का नया रक्षा मंत्री कौन

देश का नया रक्षा मंत्री कौन

भारतीय राजनीति में आये दिन कोई न कोई फेरबदल होते रहते है। हर वक्त अख़बारों और न्यूज़ चैनलो पर इनसे जुडी कोई न कोई बात छाई रहती है। हाल में हुए UP Election को लेकर राजनीति काफी गरमा-गर्म रही। और लोग भी इसी इंतजार में रहते है कब कोई नयी और मजेदार खबर देखे को मिले।

अभी हाल में ही राजनीति से जुडी एक और खबर सुर्खियों पर छाई हुई है। आज हर किसी की नजर उसी खबर पर टिकी हुई है। ये खबर देश के रक्षा मंत्री से जुडी हुई है।

देश के मौजूद रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर ने अपने रक्षा मंत्री के पद से इस्तीफ़ा दे दिया है। और वो अब गोवा के नए मुख्यमंत्री बनने जा रहे है। गोवा में भाजपा सरकार बनाने के बाद उसकी कमान संभालने को लेकर रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर ने देश के रक्षा मंत्री पद से इस्तीफा दे दिया है।

अब बात ये आती है की अब कौन है जिसको देश का नया रक्षा मंत्री चुना जायेगा। चाहे विपक्ष वाले हो, या भाजपा के नेता या आम जनता ही क्यों न हो हर किसी को इस बात का इंतज़ार है की आने वाले दिनों में मोदी जी किसको देश का रक्षा मंत्री चुनने वाले है। 

लेकिन क्या आप जानते है रक्षा मंत्री का भार संभालना कोई आसान बात नही है।  ये एक बहुत बड़ी जिम्मेदारी  है। जो भी देश का नया रक्षा प्रभारी होगा उस पर पुरे देश की सुरक्षा की जिम्मेदारी होगी। रक्षा मंत्री के बारे में जाने से पहले ये जानना जरुरी है की आखिर रक्षा मंत्रालय क्या होता है।

क्या है रक्षा मंत्रालय 

रक्षा मंत्रालय का प्रमुख कार्य है रक्षा और सुरक्षा संबंधी मामलों पर नीति  तय करना और उनके कार्य के लिए उन्हें सुरक्षा बलों के मुख्यालयों, सेना संगठनों, रक्षा उत्पाद  और अनुसंधान व विकास संगठनों तक ले जाना। सरकार के नीति निर्देशों को प्रभावी ढंग से देखना तथा  संसाधनों को ध्यान में रखकर उकार्य करना भी उसका काम है। रक्षा मंत्रालय चार विभागों का मिला जुला रूप है। 

#1 रक्षा विभाग (डीओडी) 
#2 रक्षा उत्पाद विभाग (डीडीपी)
#3 रक्षा अनुसंधान एवं विकास विभाग (डीडीआर एंड डी) 
#4 पूर्व सैनिकों के कल्याण और वित्त प्रभाग के विभाग 

ये खबर के बाद हर कोई ये जानना चाहता है की अब रक्षा मंत्री की दौड़ में कौन-कौन शामिल है।

क्या शिवराज सिंह होंगे नए रक्षा मंत्री 

पहले रक्षा मंत्री पद के लिए वित्तमंत्री अरुण जेटली नाम सामने आ रहा था लेकिन इस दौड़ में अब मध्य प्रदेश के सीएम शिवराज सिंह चौहान का नाम भी जुड़ गया है। पार्टी के कई लोग  इस विकल्प पर गंभीरता से विचार कर रहा है। रविवार शाम को संसदीय बोर्ड की बैठक के दौरान दिल्ली में ही मौजूद चौहान से शीर्ष नेतृत्व ने रक्षा मंत्री बनाए जाने पर रुख भी लिया था। हालांकि उन्होंने इसका तो नही दिया जबाब नहीं दिया था। रिपोर्ट के मुताबिक पर्रिकर के बाद भी रक्षामंत्री का पद किसी अनुभवी नेता को सौंपना सही  है। शिवराज इस पैमाने पर पूरी तरह से सक्षम हैं।

अब देश का नया रक्षा मंत्री कौन बनेगा वो तो आने वाला वक्त बताएगा। लेकिन सवाल ये खड़ा होता है की जो भी नया रक्षा मंत्री होगा वो किस तरह अपनी जिम्मेदारी निभाएगा।  कही ऐसा न हो की इस पद के साथ भी कोई राजनीति  खेली जाये।

Tags:- Hindi Articles, Indian Politics , Incredible India, Leaders of India, Storytelling, Facts about politics 

Contact Us

Name

Email *

Message *