Good bye mongoose -A dangerous helper

भगवान शिव की तीन बेटियां- क्या आप जानते है ?

भगवान शिव की तीन बेटियां- क्या आप जानते है ?


वो कहते है की "जरुरी नहीं की जैसा हम सुनते है या देखते है असल में वो वैसा ही हो" कभी-कभी कहानी कुछ और ही होती है| जी हाँ कुछ ऐसी ही एक कहानी शिव पुराण की भी है जिससे सायद ही कोई परिचित हो हर कोई ये तो जनता ही हैं   
कि भगवान शिव के तीन बेटे:  कार्तिकेयगणेश और अयप्पा है,लेकिन  बहुत कम लोग जानते हैं कि उनकी तीन  बेटियां भी हैं। उनके नाम अशोक सुन्दरीज्योति और वासुकी या मनसा हैं| हालांकि, अपने भाइयों की तरह ये प्रसिद्ध नहीं हुईशिव की तीन बेटियों को आज भी भारत के विभिन्न हिस्सों में पूजा जाता हैं। 


भगवान शिव की तीनों पुत्रियों के बारे में कई धार्मिक शास्त्रोंकहानियांजिनमें सबसे प्रामाणिक रूप से  'शिव पुराण' में उल्लेख किया है। लेकिन इस बात का उल्लेख बहुत किया गया है और हम ये मान चुके है की भगवान शिव के सिर्फ 2 बेटे है| और बस यही चलता रहा है|  

आइए जानते है वो बाते जो भगवान शिव की बेटियों से जुडी है-

#1 पहली पुत्री:- अशोक सुंदरी

भगवान शिव की पहली पुत्री का अशोक सुंदरी है अशोक सुंदरी का जन्म धार्मिक शास्त्र 'पद्म पुराणमें विस्तृत  रूप से दर्ज किया गया हैअशोक सुंदरी की कहानी गुजरात के 'व्रतकथाऔर पड़ोसी क्षेत्रों से  आती है। इन कहानियों के मुताबिकअशोक सुंदरी को देवी पार्वती की इच्छापूर्ति के लिए बनाया था, जिससे उनके अकेलापन को कम हो सकेउस पूरी का नाम अशोक रखा गया था क्योंकि उसने पार्वती को अपने  'शोकया दु और छुटकारा  दिया था| फिर बाद में वह अशोक सुंदरी के नाम से पुकारी जाने लगी क्योंकि वह बेहद ही सुंदर थीं।

शिव पुराण के अनुसार अशोक सुंदरी का विवाह राजा नहुष से हुआ था। और ये बात उनको बचपन से ही पता था क्योकि अशोक सुंदरी को भविष्य की सारी जानकारी रहती थी| अशोक सुंदरी की सौ पुत्रियां थी जो उन्ही के समान सुन्दर थी

#2 दूसरी पुत्री:- ज्योति


देवी ज्योति जिसे प्रकाश की हिंदू देवी के रूप में जाना जाता हैवह भी भगवान शिव और पार्वती की बेटी है। देवी के जन्म के आधार पर दो अलग-अलग कहानियां हैं।  पहली कहानी में,  वह भगवान शिव के प्रभामंडल   से निकली थी और वह उसके पिता की कृपा से भगवान की भौतिक अभिव्यक्ति है। दूसरी कहानी में,  वह देवी पार्वती के माथे की चिंगारीसे पैदा हुई थी। वह सामान्यतः उसके भाई कार्तिकेय से जुड़ी हुई थी

तमिलनाडु के कई मंदिरों में उनकी पूजा की जाती है। भारत के कुछ हिस्सों मेंउसे  देवी रेकी के रूप में भी पूजा जाता है जो वैदिक राक के साथ जुड़ा हुआ  है। उत्तर भारत में, वह देवी जवालाईमुची और अत्यधिक श्रद्धेय के  रूप में जानी जाती हैं।


#3 तीसरी पुत्री:- मनसा

मनसा देवी भगवन शिव की तीसरी बेटी मानी जाती है जिनका जन्म साँप के विष से इलाज करने के रूप में हुआ था| कहा जाता है की जब भगवान शिव के वीर्य ने जब कदरू द्वारा बनाई गई मूर्ति को छुआ था तो मनसा देवी का जन्म हुआ था|  इन्हें कई जगह नागराज वासुकी की बहन के रूप में भी पूजा जाता है, इनका प्रसिद्ध मंदिर हरिद्वार में स्थापित है। कुछ कहानिया तो ये भी कहती है  इनका जन्म कश्यप के मस्तक से हुआ थामनसा देवी सिर्फ भगवान शिव की ही बेटी है ये माता पार्वती बेटी नहीं हैवह अपने पिता शिव, उनके पति और उनकी सौतेली माँ की अस्वीकृति के कारण उनके बुरे स्वभाव के लिए भी जानी जाती हैं।
आम तौर पर, मनसा को एक छवि के बिना के पूजी जाती है वह एक पेड़ की एक शाखा, एक मादा का बर्तन या मिट्टी का साँप चित्र की देवी के रूप में पूजा की जाती है इनकी आराधना ज्यादातर सांप के काटने और चिकन पॉक्स के मामलों में की जाती है।



Tags- Hindi Article, Navratri Special,  Law Of Attraction, Stop Rape ,  Incredible IndiaHindu Nav varsh 

Contact Us

Name

Email *

Message *