A short story on a sharp-witted crow

हिना ट्रेडर्स- क्या है इस छोटी सी दुकान का सच

हिना ट्रेडर्स- क्या है इस छोटी सी दुकान का सच 

अपने वो कहावत तो सुनी होगी न की "कोई भी काम छोटा या बड़ा नहीं होता सोच तो इंसान की छोटी होती है" ये वो कहावत है जो हर किसी को एक हौसला देती है| कई लोग इससे प्रेरित भी होकर अपने जिंदगी में कामयाब हो जाते है और कुछ लोग बस निराश रह जाते है की हम कुछ नहीं कर पाएंगे|  तो आज उन लोगो के लिए में ऐसी एक सच्ची कहानी लाई हूँ जो असल जिंदगी से जुडी है|

कहानी है एक दुकान की, कहने को तो बहुत छोटी है, लेकिन छोटी सी दुकान की जो कहानी है, वो समाज को प्रेरणा प्रदान करती है। दिल्ली के खारी बावली में स्थित ये मेवों और मसालों की 2.5x10 फिट की दुकान है जिसकी मालिक है लीना सूर्यवंशी| लीना सूर्यवंशी की, दूकान इतनी छोटी है कि इसमें बैठने की जगह नहीं है। लीना रोज़ 10 घंटे अपनी दुकान पर खड़ी होकर काम करती है, अगल बगल की बड़ी दुकानों के बीच अपना वजूद बनाए हुए है।

लीना अपने घर की ज़िम्मेदारी अकेले संभालती है, वो घर की एकमात्र कमाने वाली सदस्य है। दुकान चलाकर वो ना सिर्फ़ अपना घर संभाल रही है, बल्कि अपनी 2 बहनों की पढाई का खर्च भी उठा रही है। लीना की एक बहन CA का कोर्स कर रही है और दूसरी डायटीशियन का। इतनी बड़ी ज़िम्मेदारी निभा रही है लीना पर वो हँसना नहीं भूलती है। लीना कहती है कि वो शादी भी उसी से करेगी, जो उसे दुकान चलाने दे, लीना कहती है, "इतना वक़्त लगाया है इस बाज़ार में, इतना कुछ सीखा है, ऐसे ही घर कैसे बैठ जाउंगी।"

लीना अपनी दुकान को साल के 365 दिन तक चलाती है हर रोज वो अपनी दुकान खोल कर 10 घंटे तक खड़े रहकर हसंते हुए काम करती है| लीना 12 साल से ये दूकान चला रही है | लीना ने बचपन में ही अपने पिता को खो दिया था , पिता के गुजर जाने के बाद से ही लीना ने पुरे घर की जिम्मेदारी अपने सर पर ले ली थी| और अब वो इतना काबिल हो गई ही की वो अपने परिवार की हर जरुरत को पूरा करने के लिए दिन रात एक कर देती है| लीना कहती है की इन 12 सालो में मेने बहुत कुछ देखा है में नहीं चाहती की जो दुःख मैने उठाये है वो मेरी बहनों को न उठाना पड़े|  और यही सोचा है जो लीना को कामियाबी दिलाती है| इसलिए आज लीना की दुकान की तारीफ हर को करता है|

लीना के इस हौसले और जस्बे को देख कर आत्मसम्मान और अभिमान दोनों का आभास हो जाता है| अगर आप दिल्ली में है या उसी और जा  रहे  है तो लीना और इस छोटी सी दुकान से जरूर मिले| यकीनन लीना की  कहानी आपके अंदर जीवन जीने का एक नया जस्बा जगा देगी|

 लीना से बोलता है की तुम्हारी दुकान तो बहुत छोटी है इससे कैसे खर्चा चलता होगा| यहाँ तो ढंग से बैठने की तक जगह नहीं है| तब लीना हसंते हुए सबसे कही है  "दुकान डाइटिंग करती है, इसलिए इतनी छोटी है।"

लीना के इस अद्भुत जस्बे को मेरा सलाम है लीना  जैसी लड़कियाँ ही महिलाओं को लेकर समाज की सोच को बदल सकती हैं। लीना उन सभी लड़कियों और महिलाओ के लिए एक प्रेरणा है जो ये समझती है की हम लड़कियां कुछ नहीं कर पाएंगी|

समाज यही मानता आया है की एक घर को एक आदमी ही चला सकता है औरत नहीं, वो बस घरों काम बनी है तो ऐसी समाज के लिए लीना एक नयी सोच है| लीना  अपने परिवार का पालन पोषण करती रहे और उसे दुनिया की हर वो ख़ुशी मिले जिससे वो हमेशा वंचित रही है|  वो ज़िन्दगी में वो सब कुछ हासिल करे, जिसे पाने के लिए वो दिन रात इतनी मेहनत करती है।

Tags:- Hindi Article, Life Stories, Harman Singh Sidhu, Inspiring Story, Incredible, Heena Traders   

Contact Us

Name

Email *

Message *