भूख की कहानी, भुकड़ की जुबानी- चेतना शर्मा

"यार बहुत भूख लग रही है" हर किसीको मेरे मुँह  से बस एक ही शब्द सुनने को मिलता है हर कोई मुझे बस यही बोलता है की यार चेतना तू कितना खाती है तेरा पेट कभी नही भरता। और हालांकि ये बात सही भी है खाना  देख कर अपने आप को में रोक नही पाती। 

आप लोग ये सोच रहे होंगे की पता नही ये कौन चेतना शर्मा है और पता नही क्या पागलो वाली बात कर रही है अपने बारे में कुछ बताया ही नही  बस खाने की बात करने लगी। मेने भी यही सोचा था की पहले अपने बारे में कुछ बताऊ पर जब कुछ लिखने लगी तो समझ ही नही आया की क्या लिखू क्योकि में कोई खास इंसान नही हूँ कोई कोई बड़ी हस्ती जो कुछ बताऊ अपने बारे में। 
मैं आप ही की तरह एक साधारण सी लड़की हूँ  मेरे बारे बस यही है की मेरा नाम चेतना शर्मा है और में  भुकड़ हूँ भले ही मेने खाना खा लिया हो लेकिन अगर मेरे सामने कुछ भी खाने को जाये में कभी भी खाने के लिए मना नही कर पाती बस पुरे खुले दिल से खाने  को enjoy करती हूँ  

आपने अक्सर लोगो को देखा होगा जो हर किसी का भी गुस्सा हो बस खाने पर उतार देते है  या तो वे लोग खाने को फेंक देंगे या खाना  ही नही  खाएंगे जाने वो लोग ऐसा कैसे कर लेते है मुझे भी बहुत गुस्सा आता है लेकिन गुस्से के कारण आज तक मेने कभी भी  खाने को नहीं फेका और ही कभी मना किया बल्कि मुझे तो जब भी गुस्सा आता है मेरी भूख बढ़ जाती है  कुछ भी रख दो भले ही मेने उसको कभी भी नही खाया हो बस वो एक दम  शुद्ध  शाकाहारी होना चाहिए में उसको खाये बिना नही रह सकती।

खाने के मामले में हर किसीकी अलग ही पसंद होती है किसीको हर कुछ पसंद  नहीं आता  सबकी एक अलग ही पसंद  होती है इसलिए तो में बोलती की मुझ जैसा इस दुनिया में कोई नही है और ही होगा
अब कल की ही बात ले लो मैंने सुबह भी नास्ता किया और दोपहर को भी खाना  लिया था बस मुश्किल से 1 घंटा हुआ होगा मुझे फिर से भूख लग आई तब मेरे लिए समोसे और कचोरी आई और मेने खा लिया  सब जानते की चेतना को खाने के अलावा कुछ नही दिखाई देता....... एक बार किसीने मुझसे कहा की चेतना तुझ जैसा कोई नही है तुझे खाने के मामले में कोई भी हरा नही सकता  

तो मेने भी यही सोचा सही है आज तक मुझे ऐसा कोई भी नही मिला जिसको में बोल सकु की यार  तुम बिलकुल मेरी तरह हो सब खाने  मामले में बहुत नाटक करते है में सबसे अलग हूँ और मुझ ऐसा कोई भी नही है और ये बात में ऐसे ही नही बोल रही हूँ आज में सबको चुनोती देती हूँ दुनिया का कोई भी बंदा  हो मुझसे आकर compitition कर सकता है I challange you मुझे कोई भी पीछे नही छोड़ सकता अगर कोई है जो शाकाहारी खाने पर मुझसे compitition करना चाहता है तो आकर कर ले। 
सब बस यही सोच रहे है की में ये फालतू बाते कर रही हूँ हर किसी के पास अलग ही telent  होता है तो ये मेरा telent  है अगर कोई और भी है तो बताओ। में तैयार  हूँ 

यार  4  दिन की जिंदगी है लड़ भिड़ कर क्या फयदा जब तक जिओ खा पी  कर जिओ नही तो खा पी कर मरो। 


Popular posts from this blog

Ego और Attitude: क्या से क्या बना देते है ये 2 शब्द आप को? Article In Hindi

The Exorcism Of Emily Rose Real Story- Anneliese Michel की एक सच्ची कहानी