भूत प्रेत की आड़ में छिपे मानसिक रोगी

भूत प्रेत की आड़ में छिपे मानसिक रोगी

ऐसा अपने कितनी बार देखा है। कभी कभी कुछ मंदिरों में लोग अजीब सी शारीरिक हरकतें करते हुए मिलते हैं। कहा जाता है कि उन्हें भूत प्रेत ने वश में कर लिया है। लेकिन ऐसा मानसिक रोगियों के साथ  भी हो सकता है।  तो आखिर हम कैसे पता लगाये इन दोनों के अंतर के बारे मेंअगर आप भारत में कुछ खास तरह की देवी या देवताओं के मंदिरों में जाएंगे, तो आप देखेंगे कि कुछ खास त्यौहारों पर या कुछ खास दिनों में ऐसा हमेशा देखे को मिलता है। उस दिन वह के देवी या देवता किसी को भी अपने अधिकार में ले सकते हैं, या कहें कि उस पर हावी हो जाते हैं और फिर कुछ भी बोलना शुरू कर देते हैं।


#1 कौन है कुल देवता

आपने कुल देवता के बारे तो सुना ही होगा। आपके परिवार के भी कोई कुल देवता होंगे। हर कुल का अपना एक खास भगवान होता है, केवल उसी कुल के लोगउन देवी देवता को मानते है कभी किसी का कोई  दो कुलों को नहीं होता। जो आपके कुल के अनुसार आपके लिए काम करे। ऐसा लगता है की हर किसी ने अपना एक Personal भगवान  बना लिया है जिस पर सिर्फ उनका ही हक़ है। और अगर कोई अजीबो गरीब हरकतें  करता है तो ये मन लिया जाता है की आप पर कोई चीज हावी है। और इसकी वजह किसी और कुल को मान लिया जाता है। 

#2 भूत है या मानसिक रोगी?


भूत हावी होने की कहानी तो अपने सुनी ही होगी या खुद अपने देखी ही होगी। उनको देख कर लगता है की जैसे किसी ने उनको अपने वश में कर लिया है। क्या आपको सही में लगता है की ऐसा कुछ होता है? क्या सच में उन लोगो पर कोई चीज हावी होती है? ये भ्रम नही तो और क्या है क्या यह एक मनोवैज्ञानिक अवस्था है? संभव है। कई बार हमारे साथ कुछ अजीब होता है कई बार मानसिक उलझनों और बीमारियों को ये समझ लिया जाता है कि कोई आत्मा या भूत-प्रेत ने वश में कर लिया है।
दरअसल मन के कई अजीबोगरीब Level होते हैं। कई बार लोग एक अलग मानसिक अवस्था में पंहुचकर अजीबोगरीब बात करने लगते हैं, जिसके बारे में वे आमतौर परहमे पता नहीं होता ऐसे कई लोग जिन्हें मानसिक रोग की बीमारी है, वे कई बार ऐसे काम करने लगते हैं, जो देखने में काफी अजीब लगता है, क्योंकि वे एकदम से ऐसी अलग मानसिक अवस्था मेंचले जाते हैं जहां अब तक उनकी कोई पहुंच नहीं थी और अचानक वे रूप ले लेते हैं जैसे कि कोई अलग चीज हो रही है। साथ ही कुछ ऐसेभी परेशानियाँ आती है जिसका कोई हल नही है। 

यह ऊर्जा की बहुत अधिक अवस्था की होती है। ऊर्जा अचानक बढ़ जाती है और फिर बिलकुल एक अलग -क्षमता पर  जाती है। यहाँ कोई भूत प्रेत नही बल्कि हमारे मन का बदलाव होता है। 

Tags:- Hindi Article, Facts About India, Indian Culture , Story Telling, Incredible Rituals

Comments

Popular posts from this blog

Ego और Attitude: क्या से क्या बना देते है ये 2 शब्द आप को? Article In Hindi

The Exorcism Of Emily Rose Real Story- Anneliese Michel की एक सच्ची कहानी