एसिडिटी के घरेलू उपाय | Acidity Ke Gharelu Upchar

एसिडिटी के घरेलू उपाय | Acidity Ke Gharelu Upchar

एसिडिटी के घरेलू उपाय | Acidity Ke Gharelu Upchar

Acidity Gharelu Upay : क्या आपको भी आए दिन "एसिडिटी" होती है। अगर ऐसा है, तो डॉक्टर के पास जाने से अच्छा है, कि आप घरेलू उपायों एसिडिटी के घरेलू उपाय की मदद लें। इन एसिडिटी के घरेलू नुस्खे से पेट में गैस या एसिडिटी की समस्या से बहुत राहत मिलेगी। एसिडिटी एक ऐसी समस्या है, जो कभी न कभी हर किसी को जरूर परेशान करती है। इसकी वजह से कई बार खट्टी डकारें आने के साथ पेट दर्द भी रहता है। जब तक ऐसी फीलिंग रहती है, तब तक व्यक्ति न चैन से सो पाता है और न ही उसका किसी काम में मन लगता है।

Acidity Ke Gharelu Upchar | एसिडिटी के घरेलू उपचार

विशेषज्ञों के अनुसार, भोजन के बीच लंबे अंतराल, खाली पेट चाय या कॉफी पीने, धुम्रपान या शराब के अधिक सेवन से एसिडिटी हो सकती है। जब एसिड का स्त्राव सामान्य से अधिक हो जाता है, तो हार्टबर्न के साथ एसिड रिफलक्स का अनुभव होता है, जो काफी कष्टदायक होता है। इसी से छुटकारा पाने के लिए लोग विभिन्न उपायों का सहारा लेते है। यदि अब तक आप अपने किए हुए उपायों को लेकर विफल रहे है, तो चिंता मत कीजिए। आज के हमारे इस आर्टिकल में हमने एसिडिटी के लिए कुछ घरेलू उपचारों Acidity Ka Gharelu Upchar की एक लिस्ट दी है, जो एसिडिटी की समस्या से छुटकारा दिलाने में बहुत मददगार साबित होगी।

यह घरेलु उपाय भी आपकी बहुत मदद करेंगे 



एसिडिटी क्या है? Acidity Problem In Hindi

एसिडिटी के घरेलू उपाय | Acidity Ke Gharelu Upchar

एसिडिटी एक तरह का डाइजेस्टिव डिसऑर्डर है। एसिडिटी को मेडिकल की भाषा में "गैस्ट्रोइसोफेजियल रिफलक्स डिजीज" के नाम से जाना जाता है। एसिडिटी या एसिड रिफ्लक्स भारतीयों को प्रभावित करने वाली एक बहुत ही सामान्य स्थिति है। यह स्थिति अक्सर सीने के आसपास महसूस की जाती है। बहुत से लोग अस्वस्थ खान-पान और खराब जीवनशैली की वजह से एसिडिटी से परेशान रहते है।

एसिडिटी होती कैसे है? Acidity Problem In Hindi

अब सवाल ये है, कि एसिडिटी होती कैसे है, तो बता दें कि हम जो खाना खाते है, वह पेट में इसोफेगस के नीचे से गुजरता है। पेट में गैस्ट्रिक ग्लैंड्स एसिड बनाती है, जो भोजन को पचाने और किसी भी रोगाणुओं को मारने के लिए जरूरी है। अम्लता तब होती है, जब गैस्ट्रिक ग्लैंड्स एसिड की एक बड़ी मात्रा का उत्पादन करती है। यानि की पाचन प्रक्रिया के लिए आवश्यकता से ज्यादा। भारतीय द्वारा तेल और मसालेदार खाद्य पदार्थ के भारी खपत के कारण भारत में यह स्थिति बहुत आम है।

यह घरेलु नुस्खे पड़ना ना भूलें :-

एसिडिटी के घरेलू उपाय | Acidity Gharelu Upay

आप इस बात से अनजान है, लेकिन आपकी किचन या फ्रिज में रखी सामग्रियों का उपयोग पेट की एसिडिटी को कम करने के लिए किया जा सकता है। यहां हम आपको कुछ ऐसे ही घरेलू उपायों एसिडिटी के घरेलू नुस्खे बताने जा रहे है।

एसिडिटी के घरेलू नुस्खे तुलसी | Acidity Ke Gharelu Nuskhe

एसिडिटी के घरेलू उपाय | Acidity Ke Gharelu Upchar

तुलसी के पत्तों की सूदिंग व कार्मिनेटिव प्रॉपर्टी आपको एसिडिटी से राहत दिलाने का अच्छा घरेलू नुस्खा Acidity Ko Jad Se Khatam Karne Ke Upay है। जब भी आपको गैस का पहला संकेत मिले, तो तुलसी के पत्ते चबाएं या फिर तीन से चार तुलसी के पत्तों को कुछ मिनट के लिए पानी में उबालें और फिर ठंडा होने पर कुछ घूंट बार-बार पीएं। एसिडिटी से राहत मिलेगी।


एसिडिटी के घरेलू उपचार सौंफ | Acidity Ke Gharelu Upchar

सौंफ एसिडिटी के सबसे अच्छे उपचारों Acidity Ka Gharelu Upchar में से एक है। सौंफ के बीजों में पाए जाने वाले तेलों की वजह से अपच और पेट फूलने की समस्या से बहुत राहत मिलती है। अगर आपको अक्सर ही एसिडिटी या गैस की परेशानी रहती है, तो आप भोजन के बाद सौंफ चबा सकते है या फिर सौंफ की चाय भी पाचन तंत्र को स्वस्थ रखने में आपकी मदद कर सकती है।

दालचीनी | Gharelu Nuskhe For Gas And Acidity In Hindi

एसिडिटी के घरेलू उपाय | Acidity Ke Gharelu Upchar

दालचीनी एक ऐसा मसाला है, जिसे कई सालों से एंटासिड के रूप में इस्तेमाल किया जा रहा है। यह आपके पाचन और अवशोषण में सुधार करके पेट को व्यवस्थित करने में अपनी अच्छी भूमिका निभाता है। एसिडिटी से राहत के लिए दालचीनी की चाय बनाकर पीएं। पोषक तत्वों से भरपूर होने के कारण यह एसिडिटी को जड़ से खत्म करने का बढिय़ा उपाय Acidity Ko Jad Se Khatam Karne Ke Upay है।

यह घरेलू उपाय आपके बहुत से पैसे और जीवन बचा सकते है :-

गुड़ | Acidity Ko Dur Karne Ke Upay

गुड़ भी एसिडिटी का अच्छा उपाय (Acidity Ke Upay) है। आपने अक्सर बुजुर्गों को भोजन के साथ गुड़ खाते देखा होगा। आपने सोचा है कि वे ऐसा क्यों करते है। इसका कनेक्शन पूरी तरह से पेट में बनने वाले गैस से जुड़ा है। अपनी उच्च मैग्रीशियम सामग्री के कारण गुड़ आंतों की ताकत को बढ़ाने का काम करता है। यह खाना पचाने में मदद करने के साथ पाचन तंत्र को प्रकृति में क्षारीय बनाता है, जिससे पेट में एसिडिटी कम होती है। भोजन के बाद गुड़ के छोटे टुकड़े को चूसें। चूंकि गुड़ सामान्य शरीर के तापमान को बनाए रखने में मदद करता है, इसलिए विशेषज्ञ पेट को ठंडा करने के लिए गर्मियों के दौरान गुड़ का शरबत पीने की भी सलाह देते है।

लौंग | Acidity Ko Jad Se Khatam Karne Ke Upay

एसिडिटी के घरेलू उपाय | Acidity Ke Gharelu Upchar

बात अगर एसिडिटी की हो, तो लौंग इसे दूर करने का सबसे अच्छा उपाय (Acidity Ke Gharelu Upay) है। सदियों से लौंग ने पाचन संबंधी विकारों के इलाज के लिए पारंपरिक चीनी चिकित्सा और आयुर्वेद में प्रमुख स्थान प्राप्त किया है। लौंग में कार्मिनेटिव गुण होने से यह गैस बनने से रोकती है। इसलिए एसिडिटी से परेशान रहने वाले लोगों को हमेशा दाल, बीन्स पकाते समय लौंग मिलानी चाहिए। एसिडिटी के इलाज के लिए आप कुचली हुई लौंग और इलायची मिलाकर भी खा सकते है, जिससे बुरी सांस से भी छुटकारा मिल जाएगा।


एसिडिटी के घरेलू उपाय जीरा

शायद आप न जानते हों, लेकिन आपकी किचन में रखा जीरा पेट से जुड़ी गैस का अच्छा घरेलू उपाय (Acidity Dur Karne Ke Upay) है। एसिडिटी के मामले में यह एक बेहतरीन गैस न्यूट्रिलाइजर के रूप में काम करता है, पाचन में सहायता करने के साथ पेट दर्द से भी राहत दिलाता है। थोड़े से भुने हुए जीरे को कुचलकर इसे एक गिलास पानी में उबालें और भोजन के बाद इसे पी जाएं। नियमित रूप से ऐसा करने से एसिडिटी की समस्या दूर हो जाएगा।

एसिडिटी के घरेलू उपचार अदरक

एसिडिटी के घरेलू उपाय | Acidity Ke Gharelu Upchar

अदरक के कई स्वास्थ्य लाभ है। यह पेट में गैस के लक्षणों को कम करने का अच्छा उपाय (Acidity Ke Upay) है। इसमें उत्कृष्ट पाचन और सूजन रोधी गुण होते है। पेट के एसिड को बेअसर करने के लिए आप रोजाना ताजे अदरक का एक टुकड़ा चबा सकते है या फिर दिन में दो से तीन बार एक चम्मच अदरक का रस पी सकते है। दोबारा एसिडिटी नहीं होगी।

ऐसे घरेलु नुस्खे जो आपकी परेशानी जड़ से ख़तम कर सकते है :-

ठंडा दूध | Gharelu Nuskhe For Gas And Acidity In Hindi

ठंडा दूध एसिडिटी की समस्या से राहत दिलाने में बहुत कारगार है। पेट में गैस बनने पर लोग इस घरेलू उपचार Acidity Ka Gharelu Upchar की मदद ले सकते है। दरअसल, दूध पेट में गैस्ट्रिक एसिड को स्थिर करने में मदद कर सकता है। कैल्शियम से भरपूर होने के लिहाज से पेट में एसिड के निर्माण को रोकने में भी ये मददगार है। इसलिए अगली बार जब भी आपको एसिडिटी की शिकायत हो, तो एक गिलास ठंडा दूध पी लें, काफी आराम मिलेगा।

नारियल पानी | Acidity Ko Dur Karne Ke Upay

एसिडिटी के घरेलू उपाय | Acidity Ke Gharelu Upchar

नारियल पानी एसिडिटी का बढिय़ा घरेलू इलाज Acidity Ka Gharelu Ilaj है। इसे पीने से शरीर का पीएच लेवल बैलेंस हो जाता है। यह आपके पेट में श£ेष्म का उत्पादन करने में मदद करता है, जो पेट को एसिड उत्पादन के हानिकारक प्रभावों से बचाता है। चूंकि, नारियल पानी में फाइबर की पर्याप्त मात्रा होती है, इसलिए यह पाचन को ठीक करने के साथ पेट में फिर से गैस बनने की प्रक्रिया को रोकता है।

केला | Acidity Ko Jad Se Khatam Karne Ke Upay

पेट में गैस बनने पर अक्सर लोग केला खाने की सलाह देते है। ये वाकई में एसिडिटी की समस्या से राहत दिलाने वाला प्राकृतिक घरेलू नुस्खा (Acidity Ke Gharelu Nuskhe) है। दरअसल, केले में नेचुरल एंटासिड होता है, जो एसिड रिफ्लक्स के खिलाफ एक बफर के रूप में काम करता है। एसिडिटी से राहत पाने का यह सबसे अच्छा घरेलू उपाय है। पेट में होने वाली असुविधा को रोकने के लिए हर दिन एक केला जरूर खाएं।

एसिडिटी के घरेलू उपाय सेब का सिरका

एसिडिटी के घरेलू उपाय | Acidity Ke Gharelu Upchar

एसिडिटी होने पर सेब का सिरका (Acidity Dur Karne Ke Upay) कमाल का काम करता है। एक कप पानी में एक से दो चम्मच कच्चा और अनफिल्टर्ड एप्पल साइडर विनेगर मिलाएं और इसे दिन में एक से दो बार पीएं। इसके अलावा आप एक चमचा एप्पल साइडर को एक गिलास पानी के साथ भी पी सकते है। एसिडिटी से छुटकारा मिलेगा।

छाछ | Acidity Ko Jad Se Khatam Karne Ke Upay

अक्सर मसालेदार भोजन खाने से भी पेट में गैस की समस्या हो जाती है। इससे बचने के लिए आप छाछ जैसे घरेलू उपाय ( Acidity Dur Karne Ke Upay) का प्रयोग कर सकते है। आपको बता दें, कि छाछ को आयुर्वेद में सात्विक भोजन के रूप में प्रदर्शित किया गया है। इसलिए अगली बार जब भी आपको मसालेदार भोजन खाना खाने के बाद एसिडिटी हो तो एक गिलास छाछ पीने से आपको बेहद आराम मिलेगा। छाछ में लैक्टिक एसिड होता है, जो पेट में अम्लता को सामान्य करता है। अच्छे परिणाम के लिए छाछ में चुटकीभर काली मिर्च या फिर एक चम्मच पिसी हुई धनिया पत्ती डालें और पी जाएं। एसिडिटी को जड़ से खत्म करने के लिए छाछ बेहतरीन घरेलू उपाय Acidity Ko Jad Se Khatam Karne Ke Upay है।

एसिडिटी के घरेलू उपाय | Acidity Ko Dur Karne Ke Upay

इस आर्टिकल में दिए गए एसिडिटी को जड़ से खत्म करने के घरेलू उपायों (Acidity Ko Jad Se Khatam Karne Ke Upay) को करने से आपको बहुत राहत मिलेगी। लेकिन इसके अलावा सरल आहार और जीवनशैली में परिवर्तन भी सीने में जलन और एसिड रिफलक्स के लक्षणों को कम कर सकते है।

आपके लिए ख़ास आर्टिकल्स :-
Tags:- एसिडिटी के घरेलू उपाय, एसिडिटी के घरेलू नुस्खे, एसिडिटी क्या है?, एसिडिटी के घरेलू उपचार, Acidity Ke Gharelu Upchar, Acidity Gharelu Upay, Acidity Ko Dur Karne Ke Upay

Post a Comment

0 Comments

© 2019 All Rights Reserved By Prakshal Softnet